.


अनकहे अधूरे ज़ज्बात प्यार का वो अनछुआ पहलु ...एक सौगात आपके नाम

मंगलवार, 20 अप्रैल 2010

आपकी कोई खता नहीं

आपसे क्या गिला करे आपसे कुछ गिला नही...
तकदीर में ना था आपका प्यार तो वो मुझे मिला नहीं ....

राहें अकेली तनहा लगती है ...साथ आपका होता जो नहीं ....
आपसे क्या गिला करे आपसे कुछ गिला नही ...

दिलों का टूटना ....तो महज़ एक खेल है ....
हमसे ही भूल होगई ...आपकी कोई खता नहीं ....

काश आप होते मेरे संग    ...ज़िन्दगी में मेरे भी होते प्यार के रंग ...
आपसे क्या गिला करे आपसे कुछ गिला नही ........
तकदीर में ना था आपका प्यार तो वो मुझे मिला नही ......
                                              सोनल जमुआर
 ( inspired by this beautiful song sung by Noorjahan and Mehdi hassan )

2 टिप्‍पणियां:

  1. weldon. are you poet. i am a fan of mehadi hassan. have you collection of mehadi hassan.

    उत्तर देंहटाएं
  2. Thanks :) Well I do have few gazals cant call it a collection but Mehdi Hassan is my all time favourite !!

    उत्तर देंहटाएं